Essay on Raksha Bandhan for students in Hindi language

Essay on Raksha Bandhan for students in Hindi language

Essay on Raksha Bandhan for students in hindi:– नमश्कार, dainikdose.com पर आपका स्वागत है । आज रक्षा बंधन के इस पवन अवसर पर आपके लिए Raksha bandhan par hindi me nibandh लेकर आया हूँ। आप अगर स्कूल में है तो आपको जरूर ही ग्रह कार्य के रूप में राखी पर निबंध लिखने को मिला ही होगा।

हम बात करें रक्षा बंधन की तो राखी भारत के प्रमुख त्योहारों में से एक है| raksha bandhan को भी बहन के प्रेम के रूप में भी देखा जाता है। बहुत से लोगो के सिर्फ ये पता है के ये त्योहार भाई बहन के प्यार के रूप में मनाया जाता है । तो हाँ आप बिलकुल सही है, इस दिन को मनाया ही जाता है इसलिए, ये भाई बहन के प्रेम को दर्शाता और कुछ हद तक हर साल बढ़ाता भी है ।

जो साथ बड़े हुए है, जिनमे कई बार लड़ाई होती है पर फिर दोनों में से कोई एक मन भी लेता है। ये रिश्ता प्यार और मोहब्बत से भी ऊपर है , और ये रिश्ता भाई और बहन का होता है। शायद ही कोई दूसरा रिश्ता कभी इतना पवित्र हो सके। हज़ार लड़ाइयों के बाद भी जब बहन रूठ जाती है तो उसे मनाने भी ही आता है।

रक्षा बंधन भाई बहन के इसी प्रेम का एक छोटा सा दर्शन है | वैसे तो भाई बहन के प्रेम को किसी दिन की ज़रूरत नही होती पर जी हाँ raksha bandhan के दिन बहन भाई को राखी बांधती है और बदले में भी उसे कुछ उपहार देता है। साथ ही साथ भाई अपने बहन की रक्षा पूरे जीवन भर करने की कसम भी खाता है।

अब चलिए में आपके साथ शेयर करता हूँ। रक्षा बंधन पर निबंध और आपको इस अनमोल रिस्ते की गहराइयों में लेकर चलता हूँ।

रक्षा बंधन का त्यौहार About Raksha Bandhan in Hindi

रक्षा बंधन हर साल श्रवण माह में मनाया जाता है। जिसे भाई बहन के प्यार को दर्शाने के रूम में मनाया जाता हैं।

इस दिन बहन भाई के कलाई पर रेशन का धागा या राखी बांधती उसकी लम्बी उम्र की कामना करती है। साथ ही भाई उसे और अपने बहन की जीवन भर रक्षण करने का लेता है।

रक्षा बंधन का महत्व Importance of Raksha Bandhan in Hindi

रक्षाबंधन पर बहन भाई के कलाई पर राखी बांधती हैं और भाई अपनी बहन को सदैव साथ निभाने और उसकी रक्षा के लिए वचन देता है। रक्षा बंधन की यह परम्परा हमारे भारत देश में  काफी प्रचलित है, और ये श्रवण पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला बहुत बड़ा त्यौहार है।

रक्षा बंधन का मतलब स्पष्ट है, रक्षा का एक अटूट बंधन। वैसे तो परंपरा के अनुसार इसे बहन अपने भाई के कलाई पर धागा बांधती है । पर इसे एक मित्रता के भाव से भी बाँधा जाता है। और इसे मित्रता का धागा भी कहा जा सकता है।

इसी कारण से , रक्षा बंधन ही वो त्यौहार है, जब बहनें अपने भाइयों के घर जाती हैं,और प्रेम भाव से अपने भाइयों को राखी बांधती हैं। ऐसा ज़रूरी नहीं है के सिर्फ राखी सेज भाई को ही बाँधी जाये, जिसे भी वो अपने भाई केरूप में देखती हैं बहने उन्हें राखी बाँध के बहन होने का पूरा फ़र्ज़ ऐडा करती हैं।

ये प्रथा इस देश में काफी प्रचलित है, और ये श्रावण पूर्णिमा का बहुत बड़ा त्यौहार है। आज ही के दिन यज्ञोपवीत बदला जाता है।

वैसे तो हर पूर्णिमा को कोई न कोई त्यौहार के लिए समर्पित किया गया है , पर क्या आप जानते हैं के रक्षा बंधन उन सबमे सबसे मतहत्वपूर्ण और बड़ा होता है। इस दिन भाई अपने बहन के प्रति अपने दाइत्वों और फ़र्ज़ का पालन करने का वचन लेता है।

साथ ही पूरी ज़िन्दगी अपने बहन की रक्षा करने का वचन लेता हैं। और पोरे देश में इसे बहुत ही हर्षा और उल्लास के साथ मनाया जाता है

रक्षा बंधन पर निबंध हिंदी में 150 शब्द – essay on raksha bandhan for students in hindi

essay on raksha bandhan in hindi

राखी या फिर रक्षा बंधन का ये पावन त्यौहार हर साल श्रावण मास में मनाया जाता है| रक्षाबंधन हिन्दू धर्म का एक सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है जिस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रेशम की राखी बांधती है और उसके बदले में भाई अपनी इच्छानुसार अपनी बहन को तोहफे, देते हैं. बस इतना ही नही वो पूरे उम्र उसकी रक्षा करने का वचन भी देता है।

रक्षा बंधन का ये त्यौहार हर साल अगस्त के महीने में आता है|

इस वर्ष हम रक्षा बंधन 3 अगस्त को मनाएंगे | इसे पूरे देश भर में हिंदुओं द्वारा मनाया जाता है।

इस दिन बहन भाई के लंबी उम्र की कामना करती है और उसके हाथ पर रेशम का धागा बाँधती है और भाई बदले में पूरे उम्र अपने बहन की रक्षा का वचन लेता है।

रक्षा बंधन पर निबंध हिंदी में – essay on raksha bandhan in hindi for students (500 words )

परिचय

“बहना ने भाई के कलाई से प्यार बांधा है, प्यार के दो तार से संसार बांधा है” सुमन कल्याणपुर के इस गीत ने इन दो पंक्ति में ही पूरी राखी के महत्व का वर्णन कर दिया है। महिलाएं आज सरहद पर जाकर हमारे देश के सैनिकों को राखी बांधते हैं , क्योंकि वो बाहरी शक्तिओं से हमारी रक्षा करते हैं।

रक्षा बंदन का ये त्यौहार भाई और बहन को भावनातमक रूप से जोड़ता है। और बड़ी खुसे से ये त्यौहार मनाया जाता है।

रक्षा बंधन किसकिस स्थान पर मनाया जाता है

राखी या रक्षा बंधन का ये त्यौहार मुख्य रूप से भारत तथा नेपाल में मनाया जाता है। इसके अलावा मलेशिया तथा अन्य देशों में मनाया जाता है और उन सारे देशों में भी ,मनाया जाता है झा हिन्दू रहते हैं।

रक्षा बंधन का महत्व – importance of raksha bandhan in hindi

इस दिन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण चीज़ है के ये त्यौहार भाई बहन को और ही करीब ले आता है। हम जिसे जानते नहीं हैं उसे भी रक्षी बाँध के भाई और बहन बना सकते हैं। राखी के इस त्यौहार को मानाने के लिए खून का रिश्ता होना कोई ज़रूरी नहीं होता है।

अब मैं आपको एक पौराणिक कहानी बताता हूँ जिससे आपको अंदाजा हो जायेगा रक्षा बंधन का महत्व के बारे में।

Essay on Raksha Bandhan for students in Hindi language

चित्तौड़गढ़ की महारानी कर्णावती ने जब देखा की उनकी सैनिक, बहादुर शाह के सेना का मुकाबला नहीं कर पाएंगे। इस वक़्त की नज़ाकत को समझते हुए रानी कर्णावती ने बहादुर शाह से मेवाड़ की रक्षा हेतु हुमायूँ को राखी बेहज दी । सम्राट हुमायूँ वैसे तो दुसरे धर्म के थे पर उसके बावजूद भी राखी के महत्व को समझते हुए हुमायूँ न बहादुर शाँह से युद्ध कर रानी कर्णावती को युद्ध में विजय दिलवाया।

आप अब तो समझ ही गए होंगे रक्षा बंधन के महत्व को।

रक्षा बंधन के महत्व से जुड़ी कुछ प्रसिद्ध पौराणिक कथा

रक्षा बंधन का इतिहास बहुत ही पुराना है।रक्षा बंधन के प्रचलित कहानियों में द्वापर युग की ये एक कहानी बहुत प्रसिद्ध है, एक बार श्री कृष्ण के उंगली कट जाने पर द्रौपदी ने अपनी साड़ी के एक कोने को फाड़ कर कृष्ण के हाथ पर बांध दिया।

कथा के अनुसार द्रौपदी के सबसे मुश्किल समय में श्री कृष्ण ने उस साड़ी के एक टुकड़े का कर्ज, द्रौपदी का चीर हरण होने से बचा कर निभाया।क्या आप जानते हैं , वह साड़ी का टुकड़ा कृष्ण ने राखी समझ कर स्वीकार किया था।

जैन धर्म में रक्षा बंधन क्यों और कैसे मनाते हैं?

अगर हम रक्षा बंधन की बात करें तो, ऐसा बोलना गलत नहीं होगा के ये और भी बहुत से धर्मो में मनाया जाता है। जैसे,जैन धर्म मे रक्षा बंधन का दिन बहुत शुभ माना जाता है इस दिन एक मुनि ने 700 मुनियों के प्राण बचाए थे। इस वजह से जैन धर्म से संबंध रखने वाले लोग इस दिवस पर हाथ में सूत का डोर बांधते हैं।

राखी के पर्व पर भाईबहन क्याक्या कर सकते हैं

  • भाई-बहन जहां भी निवास कर रहे हो राखी के समय पर एक-दूसरे से मिल सकते हैं और अवश्य ही मिलना चाहिए।
  • राखी के त्योहार को और ख़ास बनाने हेतु भाई बहन कहीं बाहर घुमने जा सकते हैं।
  • अपने-अपने जीवन में एक-दूसरे के महत्व को बताने के लिए वह उनके पसंद का उपहार उन्हें दे सकते हैं।
  • किसी पुरुष द्वारा महिला के प्रति भाई का फर्ज निभाने पर राखी के अवसर पर महिला उसे विशेष महसूस कराने के लिए राखी बांध सकती हैं।

निष्कर्ष

बहन भाई का रिश्ता खट्टा-मीठा होता है। जिसमें वह आपस में बहुत झगड़ते हैं पर एक-दूसरे से बात किए बिना नहीं रह सकते। राखी का पर्व उनके जीवन में एक-दूसरे के महत्व को बताने का कार्य करता है अतः हम सभी को यह उत्सव परंपरागत विधि से मनाना चाहिए।

essay on raksha bandhan in punjabi language – रक्षा बंधन पंजाबी में पर निबंध

Essay-on-Raksha-Bandhan-for-students-in-hindi

ਰਕਸ਼ਾ ਬੰਧਨ ਦਾ ਇਹ ਪਵਿੱਤਰ ਤਿਉਹਾਰ ਹਰ ਸਾਲ ਸ਼ਰਵਣ ਦੇ ਮਹੀਨੇ ਵਿੱਚ ਮਨਾਇਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ। ਜਿਸ ਦਿਨ ਭੈਣ ਆਪਣੇ ਭਰਾ ਦੀ ਗੁੱਟ ‘ਤੇ ਰੇਸ਼ਮੀ ਰੱਖੜੀ ਬੰਨਦੀ ਹੈ ਅਤੇ ਬਦਲੇ ਵਿਚ ਭਰਾ ਆਪਣੀ ਇੱਛਾ ਅਨੁਸਾਰ ਆਪਣੀ ਭੈਣ ਨੂੰ ਤੋਹਫ਼ਾ ਦਿੰਦਾ ਹੈ, ਉਸ ਦਿਨ ਹਿੰਦੂ ਧਰਮ ਦਾ ਸਭ ਤੋਂ ਮਹੱਤਵਪੂਰਨ ਤਿਉਹਾਰ ਰਕਸ਼ਾਬਧਨ ਹੈ। ਸਿਰਫ ਇਹ ਹੀ ਨਹੀਂ, ਉਹ ਸਾਰੀ ਉਮਰ ਇਸਦੀ ਰੱਖਿਆ ਕਰਨ ਦਾ ਵਾਅਦਾ ਵੀ ਕਰਦਾ ਹੈ.
ਰਕਸ਼ਾ ਬੰਧਨ ਦਾ ਇਹ ਤਿਉਹਾਰ ਹਰ ਸਾਲ ਅਗਸਤ ਦੇ ਮਹੀਨੇ ਵਿੱਚ ਆਉਂਦਾ ਹੈ.

ਸ ਸਾਲ ਅਸੀਂ 3 ਅਗਸਤ ਨੂੰ ਰਕਸ਼ਾ ਬੰਧਨ ਮਨਾਵਾਂਗੇ. ਇਹ ਦੇਸ਼ ਭਰ ਦੇ ਹਿੰਦੂਆਂ ਦੁਆਰਾ ਮਨਾਇਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ.


ਇਸ ਦਿਨ, ਭੈਣ ਭਰਾ ਨੂੰ ਲੰਬੀ ਉਮਰ ਦੀ ਕਾਮਨਾ ਕਰਦੀ ਹੈ ਅਤੇ ਆਪਣੇ ਹੱਥ ‘ਤੇ ਰੇਸ਼ਮੀ ਧਾਗਾ ਬੰਨ੍ਹਦੀ ਹੈ ਅਤੇ ਬਦਲੇ ਵਿਚ ਭਰਾ ਆਪਣੀ ਭੈਣ ਨੂੰ ਸਾਰੀ ਉਮਰ ਬਚਾਉਣ ਦੀ ਕਸਮ ਖਾਂਦਾ ਹੈ.

short essay on raksha bandhan in marathi (150 words ) – रक्षा बंधन पर निबंध मराठी में (150 शब्द )

रक्षाबंधन हा पवित्र उत्सव दरवर्षी श्रावण महिन्यात साजरा केला जातो. ज्या दिवशी बहिण आपल्या भावाच्या मनगटावर रेशीम राखी बांधते त्या दिवशी रक्षाबंधन हा हिंदू धर्मातील सर्वात महत्वाचा उत्सव आहे आणि त्या बदल्यात भाऊ आपल्या बहिणीला आपल्या इच्छेनुसार भेटवस्तू देईल. एवढेच नाही तर तो आयुष्यभर त्याचे संरक्षण करण्याचे वचन देतो.


रक्षाबंधनाचा हा सण दरवर्षी ऑगस्ट महिन्यात पडतो.


यावर्षी आपण 3 ऑगस्ट रोजी रक्षाबंधन साजरा करू. हा देशभरातील हिंदूंनी साजरा केला आहे.


या दिवशी, बहिणीने भावाला दीर्घायुषी शुभेच्छा दिल्या आहेत आणि हातात रेशीम धागा बांधला आहे आणि त्या बदल्यात भाऊने आयुष्यभर आपल्या बहिणीचे रक्षण करण्याचे वचन दिले आहे.

तो इसी के साथ हम अब इस लेख के अंत पर आ गए हैं। अगर आपको हमारा रक्षा बंधन पर निबंध का ये लेख पसंद आया तो इसे ज़रूर शेयर कीजिये। और नीचे कमेंट में लिख कर बताइये आपको हमारे ये पोस्ट Essay on Raksha Bandhan for students कैसा लगा।

अगर आप के पास कोई सुझाव है तो हमें नीचे कमेंट में लिख कर भी ज़रूर बताइये या आप हमारे contact us पेज पर जाके भी हमसे संपर्क कर सकते हैं।

Essay on Raksha Bandhan in Hindi – राखी पर हिंदी में निबंध

भारत त्योहरों का देश है और यहां  मनाये जाने वाले हर त्यौहार का कुछ न कुछ मतलब ज़रूर होता है।  भारत में कई त्यौहार मनाये जाते है , दिवाली, दसहरा और काफी बहुत से त्यौहार है जो के हम मानते तो है पर अगर हमे उनका महत्व पता हो तो शायद हम और भी अच्छे से उस त्यौहार को मना सकते है। 

रक्षा बंधन का  पावन त्यौहार पुरे भारत में बड़े ही हर्ष और उल्लास से मनाया जाता है। इस त्यौहार को  राखी का त्यौहार भी कहा जाता है। रक्षा बंधन को सिर्फ भरा में ही नहीं बल्कि नेपाल और मलेशिया जैसे देशो में भी मनाया जाता है। रक्षा बंधन के दिन भाई अपनी बहन की रक्षा करने का वचन देता है और साथ ही बहन भाई के कलाई पर राखी बांधती है। 

श्रावण पूर्णिमा के दिन ही ये त्यौहार को मनाया जाता है।

तो दोस्तों आपको ये essay on raksha bandhan for students in hindi कैसा लगा हमें comment में ज़रूर बताये और साथ ही अपने दोस्तों के साथ भी इस रक्षा बंधन पर निबंध को शेयर करें।